उस व्यक्ति से बड़ा कोई गरीब और कोई नहीं जो किसी की मजबूरी का फायदा उठाये ।

अलफ़ाज़ जो दिल से निकले और दिलों में समां गए।

उस व्यक्ति से बड़ा कोई गरीब और कोई नहीं जो
किसी की मजबूरी का फायदा उठाये 

 

 

न जाने लोग क्यों किसी की मज़बूरी में भी अपना फायदा देखते है।
किसी की मदत न कर सको तोह न ही करो लकिन काम से काम किसी की मज़बूरी का फयदा न ही उठाओ।।

जिंदगी सबका अच्छा बुरा समय आता है।
ये जिंदगी है यह वक्त वक्त पर हमे एक दूसरे की जरुरत पड़ती है।।

किसी को मजबूर देख उसका फयदा न उठाते हुए दिल से उसकी सहायता करनी चाहिए।
भलाई वो वापसी में आपको कुछ न दे पाए लकिन दुआ जरूर देगा ।।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.